घसियारी कल्याण योजना | Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana

नमस्कार दोस्तों जैसा कि हम सब जानते हैं उत्तराखंड सरकार द्वारा महिलाओं के कल्याण तथा उज्जवल भविष्य के लिए नई योजनाओं की शुरुआत करते हैं इसी चीज को ध्यान में रखते हुए उत्तराखंड राज्य की सरकार द्वारा Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana की स्थापना की गई है। 

इस योजना के अंतर्गत राज्य की महिलाओं को लाभ दिया जाएगा। वह महिलाएं जो पशुपालन करती हैं और उनको पशुओं का चारा लेने के लिए जंगलों के अंदर कई किलोमीटर दूर-दूर तक भटकना पड़ता है इस योजना की लाभार्थी होगी। 

इस योजना के बारे में पूरी जानकारी लेने के लिए नीचे दिए गए आर्टिकल को ध्यान पूर्वक पढ़े नीचे दिए गए आर्टिकल में इस योजना के बारे में पूर्ण रूप से जानकारी दी गई है जैसे की और बहुत सी जानकारी आपको इस आर्टिकल में दी गई है। तो चलिए नीचे दिए गए आर्टिकल को ध्यानपूर्वक पढ़ते हैं और शुरू करते हैं।

घसियारी कल्याण योजना | Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana Overview

योजना का नाम Ghasiyari Kalyan Yojana
वर्ष 2024 
सरकार उत्तराखंड सरकार 
उद्देश्य पशुओं के लिए पौष्टिक एवं गुणवत्ता से भरपूर आहार राज्य के किसानों को कम कीमतों में उपलब्ध करवाना। 
लाभार्थी उत्तराखंड के मूल निवासी
आवेदन की प्रक्रिया ऑनलाइन/ऑफलाइन
ऑफिशल वेबसाइट Click here>>

घसियारी कल्याण योजना क्या है? | Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana Kya Hai?

उत्तराखंड राज्य मूल रूप से पहाड़ियों और चोटियों से घिरा हुआ है जिस कारण राज्य के अंदर घने जंगल और जंगली पशु पक्षी पाए जाते हैं। उत्तराखंड राज्य के मूल निवासी आर्थिक रूप से कृषि पर निर्भर करते हैं। इस योजना का मुख्य लक्ष्य राज्य की महिलाओं जिनको पशुओं के चारे के लिए कई किलोमीटर दूर तक जाना पड़ता है और घांस की गठरी का बोझ अपने सर पर रख कर लाना पड़ता है। 

इसी समस्या को समाप्त करने के लिए इस योजना का शुभ आरंभ किया गया है। इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को पौष्टिक तथा गुणवत्ता से भरपूर चारा पशुओं के लिए कम दरों पर सरकार द्वारा 7771 केन्द्रो को स्थापित कर मुहैया करवाया जाएगा। 

इस योजना के अंतर्गत महिलाओं को कई और मुख्य लाभ उपलब्ध करवाए जाएंगे जैसे की महिलाओं को एक किट उपलब्ध करवाई जाएगी जिसके अंदर दो कुदाल, दो दरांती, एक पानी की बोतल और एक टिफिन बॉक्स दिया जाएगा। इस योजना के अंतर्गत चारा केन्द्रो की स्तापना से अब महिलाओं को अब खराब रास्तों पर जाने की आवश्यकता नहीं पड़ेगी जिससे वह जंगली जानवरों का शिकार होने से भी बचेगी और खराब रास्तों से गिरकर जख्मी होने का खतरा भी कम होगा। 

Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana

घसियारी कल्याण योजना उद्देश्य | Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana objectives 

घसियारी कल्याणी योजना का उद्देश्य राज्य की महिलाओं को अपने पशुओं के चारे के लिए जंगलो में जंगली जानवरों के हमले से बचाना और उन्हें पहाड़ी इलाकों में चारा इकठा करते समय गिर कर घायल होने के खतरे को समाप्त करना है। 

उत्तराखंड राज्य मुख्य तौर से जंगल और पहाड़ियों से घिरा हुआ है इस राज्य के अधिकतर निवासी पशुपालन और कृषि पर आधारित है। उनके लिए सरकार राज्ये के अंदर चारा केंद्र स्थापित करेगी जिसका मुख्य उद्देश्य बाजार में मिलने वाले चारे से काम दामों में अधिक गुणवत्ता और पौष्टिक वाला चारा पशुओं के लिए उपलब्थ करवाना है। 

जिससे पशुओं की सेहत में सुधार लाया जा सके और दुग्ध उत्पादन में वृद्धि लाई जा सके जिससे अधिक से अधिक लोग राज्य के अंदर पशुपालन की ओर आकर्षित हो और राज्य के अंदर बेरोजगारी की समस्या को खत्म किया जा सके। 

घसियारी कल्याण योजना लाभ | Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana Benefits

  • इस योजना की स्थापना उत्तराखंड की सरकार द्वारा किया गया है। 
  • इस योजना के आने से महिलाओं को चारे के लिए जंगलों के अंदर भटकना नहीं पड़ेगा। 
  • महिलाएं जंगली जानवरों का शिकार होने से भी बच जाएगी। 
  • राज्य की महिलाओं को चारा  इकट्ठा करते समय पहाड़ी इलाकों से गिरकर जख्मी होने का खतरा भी काम होगा। 
  • उत्तराखंड सरकार द्वारा बाजार से सस्ते दामों में अधिक गुणवत्ता और पौष्टिक चारा उपलब्ध करवाएगी। 
  • इसके लिए सरकार राज्य के अंदर करीब 7771 केन्द्रो की स्थापना करेगी। 
  • इस योजना के अंदर पशुपालकों को एक वैक्यूम बैग उपलब्ध करवाए जाएंगे पशु आहार (साइलेज) को रखने के लिए।   
  • सरकार द्वारा उपलब्ध कराए गए बैग की क्षमता 20 से 25 किलो की होगी। 
  • पौष्टिक और गुणवत्ता से भरपूर चारा खाने से पशुओं की सेहत में सुधार के साथ-साथ दुग्ध उत्पादनमें भी वृद्धि आएगी।  
  • राज्य के पशुपालकों की आमदनी में भी इस योजना की मदद से वृद्धि होगी। 
  • उत्तराखंड राज्य के अंदर बेरोजगारी की समस्या को कम करने भी भी मदद मिलेगी। 

घसियारी कल्याण योजना के लिए पात्रता | Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana eligibility 

  • इस योजना के लिए केवल उत्तराखंड राज्य के निवासी ही पात्र होंगे। 
  • इस योजना का लाभ उठाने के लिए लाभार्थी को पशुपालक होना चाहिए। 
  • इस योजना के अंतर्गत आवेदन करने के लिए आवेदक के पास दुधारू पशु होने चाहिए। 

जरूरी दस्तावेज

  • Aadhaar Card (आधार कार्ड)
  • Ration Card (राशन कार्ड)
  • Mobile Number (मोबाइल नंबर)
  • Proof of Income (आय का प्रमाण)
  • Proof of Age (आयु का प्रमाण)
  • Residence Certificate (निवास प्रमाण पत्र)
  • Passport Size Photograph (पासपोर्ट साइज फोटोग्राफ)

Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana आवेदन की प्रक्रिया | How to apply  

आप अगर उत्तराखंड राज्य के निवासी हैं और इस योजना के अंतर्गत आवेदन करना चाहते हैं तो आपको हम यह जानकारी बताना चाहते हैं कि अभी इस योजना को स्थापित करने की घोषणा सरकार द्वारा करी गई है। जब यह योजना राज्य के अंदर सरकार द्वारा लागू करी जाएगी उस समय हम इस योजना से संबंधित आवेदन करने की प्रक्रिया जानकारी को इस लेकर मदद से आपके सामने पेश कर देंगे। जिससे आपको इस योजना का लाभ उठाने में किसी भी प्रकार की समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। 

Conclusion

इस लेख को अंत तक पढ़ने के लिए शुक्रिया। इस वेबसाइट पर सरकारी स्कीम, राज्य सरकार योजनाएं, जॉब, परीक्षा से सम्बंधित जानकारी दी जाती है। आप का experience कैसा रहा आप उसे नीचे comment box में share कर सकते हैं और अगर आपको कोई doubt या problem है तो आप मुझसे नीचे comment box में पूछ सकते हैं या email कर सकते हैं।मैं आपको जल्द से जल्द reply देने की कोशिश करूँगा। 

Telegram ChannelJoin
WhatsApp GroupJoin

इन्हें भी पढ़ें 

21 thoughts on “घसियारी कल्याण योजना | Mukhyamantri Ghasiyari Kalyan Yojana”

Leave a Comment